GST के रेट तय हो गए है, ये है सस्ते और महंगे प्रोडक्ट की लिस्ट (GST रेट्स की फाइनल तस्वीर)

0

GST Rates are Finalised check list of all goods & Services cheaper & Costly in GST Regime. गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स (जीएसटी) को सरकार 1 जुलाई से लागू करने की तैयारी कर रही है। इसके लिए शनिवार को जीएसटी काउंसिल ने छह प्रोडक्‍ट के जीएसटी रेट फाइनल कर दिए हैं। इन रेट्स के चलते जहां आपको कई चीजें (जीएसटी लागू होने पर) महंगी मिलेंगी। वहीं, कुछ की कीमत कम होगी।

जीएसटी काउंसिल ने शनिवार को गोल्ड, बिस्किट, बीड़ी, रेडीमेड गारमेंट्स, फुटवियर, यार्न और फैब्रिक के लिए जीएसटी रेट्स के स्लैब तय किए हैं। गोल्‍ड के लिए जहां 3 फीसदी जीएसटी रेट तय किया गया है। वहीं, फुटवियर को 18 फीसदी टैक्‍स स्‍लैब के दायरे में रखा गया है। इन रेट्स के चलते इन प्रोडक्‍ट में से कुछ तो सस्‍ते हो जाएंगे, लेकिन कुछ की कीमत बढ़ जाएगी।’

अब लगभग सभी आइटम्स के लिए गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) के रेट फाइनल हो गए हैं। शनिवार को हुई काउंसिल की 15वीं मीटिंग में गोल्ड, फुटवियर, रेडीमेड गारमेंट्स, बिस्किट सहित 6 आइटम्स के लिए जीएसटी रेट पर मुहर लगीं। इससे पहले 18 मई को हुई काउंसिल की मीटिंग में 1205 आइटम्स के लिए जीएसटी रेट तय किए गए थे। हम आपको यहां सभी आइटम्स के लिए फाइनल हुए रेट्स के बारे में बता रहे हैं, साथ ही इससे आप अब जान सकेंगे कि आपको किस आइटम पर कितना टैक्स चुकाना होगा और किस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।
किस स्लैब में कितने पर्सेंट आइटम्स

List of all goods & Services cheaper & Costly in GST Regime

स्लैब
कितना टैक्स
कितने प्रोडक्ट
1
28%
19%
2
18%
43%
3
12%
17%
4
5%
14%

ये चीजें हो जाएंगी सस्‍ती

आज जिन प्रोडक्‍ट्स के रेट तय किए गए हैं। उनके मुताबिक नीचे दी गई चीजें सस्‍ती हो जाएंगी।

प्रोडक्ट मौजूदा इफेक्टिव रेट (फीसदी में) जीएसटी रेट (फीसदी में)
फुटवियर (500 रुपए से कम)
9.5
5
फुटवियर (500 रुपए से अधिक)
23-29
18

ये प्रोडक्‍ट होंगे महंगे

जीएसटी काउंसिल की तरफ से शनिवार को तय किए गए रेट्स के मुताबिक बिस्किट, रेडीमेड कपड़े समेत कई प्रोडक्‍ट्स महंगे हो जाएंगे। नीचे है पूरी लिस्‍ट।
प्रोडक्ट
मौजूदा इफेक्टिव रेट (फीसदी में)
जीएसटी रेट (फीसदी में)
गोल्ड और गोल्ड ज्वैलरी
2 (1% वैट+1%एक्साइज)
3
सिल्वर और सिल्वर ज्वैलरी
1
3
डायमंड और डायमंड ज्वैलरी
2 (1% वैट+1%एक्साइज)
3
रफ डायमंड
0
0.25
बिस्किट
12
18
बिस्किट (100 रुपए प्रति किलोग्राम)
0
18
रेडीमेड गारमेंट (1,000 रुपए से अधिक)
5
12
कॉटन गारमेंट, फैब्रिक
0
5
एग्री मशीनरी
5
5-12
बीड़ी
20
28
टेक्सटाइल
0
5
सोलर पैनल
0
5

बैंक, इंश्‍यारेंस व होटल पर तय हो चुके हैं रेट

जीएसटी काउंसिल की पिछली मीटिंग्‍स में बैंक, इश्‍योरेंस और होटल समेत कई सर्विसेज पर जीएसटी रेट तय किए जा चुके हैं। नीचे पहले तय किए जा चुके रेट्स के मुताबिक ये महंगी सर्विस की लिस्‍ट है।

 ये सर्विस हो जाएंगी महंगी…

सर्विस
जीएसटी (फीसदी में)
सर्विस टैक्स (फीसदी में)
होटल (5 हजार से ज्यादा रूम रेट)
24
15 + लग्जरी टैक्स 5-12.5
होटल 2,500-5,000 रुपए
18
15
होटल 1,000-2,500
12
15
सिनेमा टिकट
28
एंटरटेनमेंट टैक्स 10-50
टेलिकॉम सर्विस
18
15
बैंक, इंश्योरेंस, स्टॉक्स
18
15
पांच सितारा होटल
28
15 + लग्जरी टैक्स 5-12.5

ये सर्विस हो जाएंगी सस्ती

सर्विस
जीएसटी रेट (फीसदी में)
सर्विस टैक्स (फीसदी में)
एसी रेस्त्रां
18
15 + 10 सर्विस चार्ज
होटल (1,000 रुपए से कम रूम रेट)
टैक्स नहीं लगेगा
टैक्स नहीं लगेगा
कैब सर्विस
5
5.8

GST काउंसिल ने ऐसे तय किए रेट

1#इन तीन चीजों पर टैक्स नहीं
  • गेहूं-चावल समेत अनाज, दूध और दही को GST के दायरे से बाहर रखा गया है। कुछ राज्यों में अनाज पर VAT लगता है। वहां 1 जुलाई से GST लागू होने के बाद अनाज सस्ता हो जाएगा।
2#बिजली होगी सस्ती
  • कोयले पर अभी 11.69% टैक्स लगता है, लेकिन, GST आने पर यह टैक्स सिर्फ 5% लगेगा। इससे कई राज्यों में बिजली का टैरिफ कम होने की उम्मीद है।
3#रोजमर्रा की ये चीजें होंगी सस्ती
  • साबुन, टूथपेस्ट और हेयर ऑयल जैसी चीजें 18% टैक्स स्लैब के दायरे में आएंगी। इन चीजों पर अभी तक 22-24% तक टैक्स लगता है
4#छोटी कारें हो सकती हैं महंगी, लग्जरी गाड़ियों पर लगेगा सेस
  • मौजूदा टैक्स रेट के अनुसार अभी छोटी कारों पर 12.5 फीसदी एक्साइज टैक्स, 14.5 फीसदी तक वैट लगता है। इस वजह से कुल टैक्स देनदारी 27 फीसदी आती है।
  • जीएसटी लागू होने पर 28 फीसदी टैक्स के साथ छोटी कारों पर 1-3 फीसदी का सेस लगेगा, जिससे कुल छोटी कारों पर कुल टैक्स 29 फीसदी से लेकर 31 फीसदी के बीच आएगी। ऐसे में कारों की लागत बढ़ेगी। इसकी भरपाई कार कंपनियां कीमतें बढ़ाकर कर सकती हैं।
  • अभी 1500 सीसी से ज्यादा इंजन वालों कारों पर 41.5 फीसदी से लेकर 44.5 फीसदी टैक्स लगता है।
  • जीएसटी लागू होने पर इन कारों पर 43 फीसदी के करीब टैक्स लगेगा। घटे टैक्स को देखते हुए कार कंपनियां कीमतें घटा सकती हैं।
  • कारों को 28% के स्लैब में रखा गया है। अभी कारों पर 30-32% टैक्स लगता है। GST आने के बाद छोटी कारों पर 28% टैक्स और 1% सेस। इस तरह कुल टैक्स 29% हो जाएगा।
  • मीडियम सेगमेंट की कारों पर 28% टैक्स के अलावा 3% सेस और लग्जरी कारों पर 15% सेस लगेगा।
5#बाकी आइटम्स पर इस तरह लगेगा टैक्स
  • 1 जुलाई से मिठाई पर भी 5% टैक्स देना होगा।
  • एसी और फ्रिज को 28% के स्लैब में रखा गया है।
  • लाइफ सेविंग ड्रग्स को सबसे कम 5% की स्लैब में डाला गया है।
6#5%के दायरे में रहेंगी ये सर्विसेज
  • गुड्स की तरह सर्विसेस को भी 5, 12, 18, 28% के टैक्स स्लैब में बांटा गया है।
  • रेलवे, एयर और ट्रांसपोर्ट को 5% के सबसे कम स्लैब में रखा गया है क्योंकि ये पेट्रोलियम इंडस्ट्री पर निर्भर हैं। पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को GST से बाहर रखा गया है।
7#टेलिकॉम और फाइनेंशियल सर्विसेस किस दायरे में हैं?
  • इन पर पहले 15% टैक्स लगता था। GST में इसे 18% के स्लैब में रखा गया है। 3% टैक्स बढ़ने से ये सर्विसेस महंगी हो जाएंगी।
8#ट्रैवलिंग पर कितना असर?
  • इकोनॉमी क्लास एअर ट्रैवल पर 5% टैक्स और बिजनेस क्लास पर 12% GST लगाया जाएगा।”
  • नॉन एसी ट्रेन ट्रैवल को GST के दायरे से बाहर रखा गया है। वहीं, एसी ट्रैवल टिकट पर 5% GST लगाया जाएगा।
9#होटलों-रेस्टोरेंट्स पर कितना लगेगा टैक्स?
  • 50 लाख या उससे कम सालाना टर्नओवर वाले रेस्टोरेंट्स 5% टैक्स लगेगा।
  • नॉन AC होटल्स पर 12%, AC, लिकर लाइसेंस वाले होटल्स की सर्विसेस पर 18% टैक्स लगेगा।
  • एक कमरे का 1000 रुपए से कम किराया लेने वाले लॉज-होटल की सर्विसेस को टैक्स के दायरे से बाहर रखा गया है।
  • 1000 रुपए से 2500 रुपए प्रति कमरा किराया चार्ज करने वाले होटल्स की सर्विसेस पर 12% टैक्स लगेगा।
  • 2500 रुपए से 5000 रुपए प्रति कमरा किराया लेने वाले होटल्स की सर्विसेस पर 18% टैक्स लगेगा।
  • किराया 5000 से ज्यादा होने पर होटल्स की सर्विस पर 28% टैक्स लगेगा।
10#क्या मूवी देखने जाना सस्ता हो जाएगा?
  • अलग-अलग राज्यों में सिनेमा हॉल्स और मल्टीप्लेक्सेस पर सर्विस टैक्स और एंटरटेनमेंट टैक्स मिलाकर अभी 40% से 55% टैक्स लग रहा है। ये खत्म होकर GST के दायरे में आ जाएगा। अब यह 28% हो जाएगा। लेकिन, सिनेमा टिकट का सस्ता होना स्टेट्स पर निर्भर करता है, क्योंकि इंटरटेनमेंट के मामले में लोकल चार्ज लगाने का अधिकार उनके पास ही है।
  • यूपी में अभी मूवी टिकट पर 40% टैक्स लगता है। वहां फिल्म देखना सस्ता हो जाएगा। लेकिन तमिलनाडु में 15% टैक्स लगता था। 28% GST के बाद अब वहां मूवी देखना अब महंगा हो जाएगा।
11#ब्रांडेड कपड़ों की कीमत पर क्या असर पड़ेगा?
  • अभी ब्रांडेड कपड़ों पर 8% से 10% सर्विस टैक्स लगता है। GST लागू होने के बाद इन पर 18% टैक्स लगेगा।
12#गैंबलिंग पर कितना GST लगेगा?
  • गैंबलिंग, रेसकोर्स और बेटिंग को 28% टैक्स के दायरे में रखा गया है।
13#ऐप से कैब बुक कराने पर कितना टैक्स?
  • जीएसटी के तहत कैब एग्रीगेटर्स पर 5% की दर से टैक्स लिया जाएगा। अभी तक इस पर 6% सर्विस टैक्स लगता था।
14#सस्ते होंगे हर तरह के जूते
  • फुटवियर के लिए 5 फीसदी और 18 फीसदी टैक्स स्लैब तय की गई। इसमें 500 रुपए से कम कीमत के फुटवियर के लिए 5 फीसदी रेट तय की गई है, जबकि अभी तक इन पर 9.5 फीसदी टैक्स लगता था।
  • वहीं 500 रुपए से ऊपर के फुटवियर के लिए 18 फीसदी जीएसटी रेट रहेगी, जबकि अभी तक इन पर 23 से 29 फीसदी तक टैक्स लगता था। इससे साफ है कि अब हर कैटेगरी के जूते सस्ते हो जाएंगे।
15#कपड़ों पर कितना लगेगा टैक्स
  • 1 हजार रुपए से कम के अपैरल के लिए 5 फीसदी जीएसटी रेट तय की गई। हालांकि इससे ज्यादा कीमत के अपैरल पर 12 फीसदी जीएसटी टैक्स लगेगा, जो अभी तक 5 फीसदी था। इससे साफ है कि 1 हजार रुपए से ज्यादा कीमत के अपैरल के लिए अब आपको ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी।
16#बिस्किट हो जाएंगे महंगे
  • जीएसटी लागू होने के बाद बिस्किट पर 18 फीसदी टैक्स लगेगा, जबकि अभी तक 12 फीसदी टैक्स लगता है। इससे साफ है कि हर तरह के बिस्किट के लिए आपको जुलाई से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी।
17#गोल्ड, सिल्वर, डायमंड ज्वैलरी हो जाएगी महंगी
  • -गोल्ड और गोल्ड ज्वैलरी पर 3 फीसदी जीएसटी रेट तय की गई हैं, जबकि अभी तक 1 फीसदी वैट और 1 फीसदी एक्साइज ड्यूटी लगती है।
  • सिल्वर और सिल्वर ज्वैलरी के लिए भी 3 फीसदी जीएसटी रेट तय किया गया है, जबकि अभी तक 1 फीसदी टैक्स लगता है।
  • इसके डायमंड और डायमंड ज्वैलरी पर भी 3 फीसदी जीएसटी रेट तय किया गया है, जो अभी तक 2 फीसदी (1 फीसदी वैट और 1 फीसदी एक्साइज ड्यूटी) था।
  • वहीं रफ डायमंड पर 0.25 फीसदी जीएसटी रेट तय किया गया, जिस पर पहले टैक्स नहीं लगता था। इससे साफ है कि जुलाई से हर तरह की ज्वैलरी खरीदना आपके लिए महंगा होने जा रहा है।
18#सोलर पैनल होंगे महंगे
  • सोलर पैनल के लिए 5 फीसदी जीएसटी रेट तय किया गया है, जबकि अभी तक इस पर कोई टैक्स नहीं लगता है।

इन आइटम्स पर नहीं लगेगा टैक्स

  • रोजाना इस्तेमाल में आने वाले आइटम्स जैसे चाय, कॉफी (इंस्टेंट नहीं), चीनी को 5% टैक्स के स्लैब में रखा गया है। पहले भी इन पर करीब इतना ही टैक्स लगता था। इसलिए इन पर कोई असर पड़ने के आसार नहीं हैं।
  • मेट्रो, लोकल ट्रेन में ट्रैवल, धर्म यात्रा और हज यात्रा को GST के दायरे से बाहर रखा गया है
  • हेल्थकेयर सेक्टर में इक्विपमेंट, मशीनरी, स्‍टेंट, फार्मा सेक्‍टर पर वैट लगता है। हॉस्पिटल के बिल पर कोई टैक्‍स नहीं लगता है। हेल्थकेयर को GST के दायरे से बाहर रखा गया है।
  • एजुकेशन सेक्‍टर को GST से बाहर रखा गया है। इस पर अभी भी कोई टैक्स नहीं है। लेकिन, हायर एजुकेशन जैसे IITs, IIMs की फीस पर सर्विस टैक्स देना पड़ता है।
  • लॉटरी को GST के दायरे से बाहर रखा गया है।

 

On our website we have provided all the details of GST Act 2017. We hope that our article will be helpful for you to understand the GST Act 2017.

 

Check Also:

GST Notifications, Circulars, Orders, Updates, Latest News 2017

New GST Registration Rules 2017, Revised GST Registration Rules 2017

Section 148 of GST – Special procedure for certain processes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here